हेलो दोस्तों .. मेरा नाम लकी है..

हेलो दोस्तों .. मेरा नाम लकी है.. मैं कानपूर का रहने वाला हु पर दिल्ली में जॉब करता हूँ.. स्लिम बॉडी हूँ. एवरेज लुकिंग लड़का हूँ . आज मैं आपको अपने साथ हुए एक वाकये के बारे में बताने जा रहा हु .. दिल्ली में मैं प्राइवेट जॉब करता हु और वीकेंड में मैं कभी कभार क्लब्स और पब्स में चला जाता हु मस्ती करने के लिए.. पर मैं बहुत इंट्रोवर्ट हु तो कहीं भी जाता हु तो अकेले ही जाना पसंद करता हु.. तो इसी तरह एक दिन मैं शनिवार के दिन दिल्ली में सीपी के एक क्लब माय बार में बैठा हुआ था और बियर का मज़ा ले रहा था.. बार में हल्का हल्का म्यूजिक बज रहा था जिससे सुरूर सा बन गया था.. तभी एक फॅमिली बार में एंटर हुई उसमे से दो आदमी और उनकी बीविया थी. वो सब मेरे पास ही सोफे पर आकर बैठ गए.. मैं अपने आप में खोया हुआ था तो मैंने उन पर ध्यान नहीं दिया. थोड़ी देर बाद मैं थोड़ा होश में आया तो देखा की उनमे से एक लेडी मेरी तरफ गांड करके बैठी हुई थी ..और उसके सामने दूसरी लेडी बैठी थी.. दोनों ने ही घुटनो से ऊपर तक शार्ट ड्रेस पहन रखा था और तब मेरी बुद्धि खराब होने लगी ..उन दोनों के बीच में उनके हस्बैंड्स बैठे थे ..और दोनों पीने में बहुत बिजी थे और उनकी बीविया इधर उधर लोगो को देख रही थी .. करीब आधे घंटे में उन दोनों आदमियों ने बहुत पी ली और दोनों बहुत नशे में हो गए.. तभी दूसरा आदमी अपनी बीवी को लेकर जाने लगा वो बहुत नशे में था तो उसकी बीवी उसको संभाल कर ले जाने लगी.. अब मेरे बगल में वो भाभी और उनका पति फुल नशे में था… और वो वहीँ पर सो गया था .. मैं उनकी गोरी गोरी टांगो को देख रहा था तभी वो मेरी तरफ मुड़ी और बोला क्या आप मेरी हेल्प करोगे तो मैंने कहा ” हां मैडम कहिये ” तब भाभी बोली ” आप मेरे हस्बैंड को मेरी गाडी तक छोड़ने में मेरी हेल्प करोगे.. मैंने हां में सर हिलाया और फिर हम दोनों उनके पति को उठाकर गाडी तक ले गए. उसके बाद मैंने उन्हें गाड़ी में लिटा दिया और भाभी ने मुझे थैंक्यू किया ..तभी मैंने कहा की आपने तो यहाँ डांस एन्जॉय ही नहीं किया ..तब भाभी ने कहा की इनको संभालने में कुछ बी एन्जॉय नहीं कर पायी तो मैंने कहा की चलिए अब कर लीजिये सर को यही सोने दीजिये.. वो कुछ देर सोचने के बाद उन्होंने कहा चलो चलते है थोड़ा डांस करते है और हम दोनों क्लब के अंदर चले गए…

अंदर पहुंचने के बाद पहले उन्होंने अपने लिए एक बियर ली और मुझे भी ऑफर की फिर हम दोनों ने बियर पि..अब उनको नशा चढ़ चूका था और वो पूरे सुरूर में आकर मुझे लेकर डांस फ्लोर में आ गयी और खुद खुल कर नाचने लगी …उन्होंने मेरा कॉलर पकड़ कर अपनी तरफ खींचा और मेरे हाथ अपने हाथ में पकड़ कर अपनी कमर पर रख दिया और हम दोनों बहुत देर तक डांस करते रहे… एक बज चुके थे और उनके साथ चिपक कर डांस करते करते मेरा लंड खड़ा हो चुका था ..पर मैंने किसी तरह खुद पर कंट्रोल किया. अब हम बहार आये तो मैंने कहा की भाभी आज आपके साथ डांस करके मज़ा आ गया. तो उन्होंने कहा मैं कार नहीं चला सकती क्या तुम हमे घर तक पंहुचा सकते हो ..तो मैंने हां में सर हिलाया और वो मेरे बगल वाली सीट पर आकर बैठ गयी.. मैं कार ड्राइव कर रहा था और भाभी मुझे देखे जा रही थी . तो मैंने कहा ” भाभी ऐसे क्या देख रही हो ” तो भाभी बोली की ” आप डांस के अलावा क्या क्या अच्छा कर लेते हो” तो मैंने कहा भाभी जो आप बोलो तो भाभी बोली ” घर चलो फिर बताती हूँ.

और मैंने कार की स्पीड बढ़ा दी और घर पहुंचने के बाद मैंने उनके पति को उनके बैडरूम में छोड़ दिया. तभी भाभी मेरे लिए पानी लायी तो मैंने भाभी से कहा की “कहिये भाभी , क्या सेवा करू आपकी ?”. तो भाभी ने कहा की “आप दूसरे रूम में चलिए फिर बताती हूँ. ” मैं दूसरे में गया तो भाभी बाथरूम चली गयी. थोड़ी देर बाद भाभी एक शार्ट ट्रांसपेरेंट नाइटी में मेरे पास आयी और पास आकर बोली …अपनी भाभी की सेवा करो.. और मेरे होठो पर अपने होठ रख दिए.. और मैं बी उनके होठो को चूसने लगा..और धीरे धीरे उनके गर्दन के ऊपर होठो से और दांतो से हलके हलके काटने लगा फिर मैंने उनके कंधे के ऊपर से ब्रा की स्ट्रिप हलके से उतारी और कंधे पर हलके हलके से किश करने लगा और जीभ से चाटने लगा …उनके गर्दन पर जीभ से चाटने पर और चूमने पर उन्हें अजीब सा मज़ा आया और वो मस्ती में आह आह आह करने लगी.. फिर मैंने उनकी नाइटी को उतार दिया और उनके गोल गोल मुम्मे को आज़ाद कर दिया.. और उनके मुम्मे के पास किश करने लगा और उनके पूरे मुम्मे चाटने लगा.

फिर मैंने उनका निप्पल अपने मुँह में ले लिया और चूसने लगा. और दूसरे हाथ से दूसरा बूब्स दबाने लगा.. आधे घंटे उनके बूब्स चूसने के बाद मैंने उनकी नाभि पर आया और नाभि के अंडर और किनारे जीभ से चाटने लगा.. और पेट पर जीभ से चाटने लगा और कमर पर जीभ से चाट और चूम चूम कर भाभी का चेहरा लाल कर दिया. फिर मैंने भाभी की पैंटी उतार दी ..और उनकी गुलाबी चुत को आज़ाद कर दिया फिर मैंने उनकी चुत में ऊँगली घुसा दी और हलके से चुत फैलाया और ऊँगली अंडर तक घुसा दी. भाभी की मुँह से िश की आवाज़ निकली..मैंने भाभी की चुत ५ मिनट तक ऊँगली की और फिर उनकी चुत को फैला कर जीभ अंदर घुसा दी .. और मैंने उनकी चुत को चाटने लगा और वो मस्ती में अकड़ने लगी .. फिर मैंने भाभी को अपने होठो पर बैठने के लिए कहा और वो मेरी मुँह में आकर बैठ गयी फिर मैंने उनकी चुत के दाने में अपनी जीभ घुसा दी और भाभी मेरे मुँह में बैठकर अपनी कमर हिलाने लगी और मेरी जीभ से अपनी चुत की चुदाई कराने लगी. २० मिनट बाद भाभी की चुत से बहुत सारा पानी निकला जिसे मैं चाट गया और मेरे होठो पर वो पानी देख कर भाभी ने मेरे होठ चूसने लग गयी और फिर उन्होंने मेरा लंड अपने मुँह में ले लिया. और १० मिनट तक मेरा लंड चूसा.. फिर वो मुझे धक्का देकर मेरे ऊपर आ गयी.

उन्होंने मेरा लुंड हाथ से पकड़ कर अपनी चुत पर टिकाया और मेरे लुंड पर बैठ गयी और फिर धीरे धीरे ऊपर नीचे करने लगी.. करीब ४, ५ धक्को के बाद उन्होंने स्पीड बढ़ा दी और उछाल उछाल कर चुदाई स्टार्ट कर दी.. फिर जब वो थक गयी तो मैंने नीचे से धक्के लगाने चालू कर दिए. इस तरह भाभी को मैंने १५ मिनट तक चोदा फिर मैंने भाभी को घोड़ी बनने को कहा और वो मेरे लंड के पास आकर घोड़ी बन गयी और मैंने पीछे से उनकी चुत से लेकर गांड तक लकीर में अपने लंड को रगड़ा ..उससे वो बहुत तड़पने लगी..और आगे पीछे ..

फिर मैंने एक झटका भाभी की चुत में मारा और एक ही बार में पूरा लंड भाभी की चूत में उतार दिया ..भाभी के मुँह से हलकी सी चीख निकल गयी ..तो मैंने भाभी से पुछा “क्या हुआ भाभी “.. भाभी ने मुझे एक नॉटी से स्माइल देते हुए कहा “कुछ नहीं ” … और फिर मैंने अपनी स्पीड बढ़ा दी… और फुल स्पीड में भाभी को पीछे से छोड़ने लगा ..करीब १० मिनट चोदने के भाभी की चूत में से बहुत सारा पानी निकला ..जिससे भाभी थोड़ी ढीली पड़ गयी तो मैंने जल्दी से चूत से बह रहा पानी छाता लिया फिर १० मिनट तक गांड से चूत के बीच की लकीर में अपनी चूत घुसा कर चूसा.. फिर मैंने भाभी से कहा भाभी “गांड में डालू क्या “. भाभी ने ना में सर हिलाया.. मैंने भी दुखी मन से बोलै “ठीक है ” तो उन्होंने कहा “चलो try करते है “.. तो मैंने गांड के छेद में लंड टिकाया और धीरे धीरे दबाने लगा लंड को गांड में .. पर बात कुछ बानी नहीं तो मैंने हल्का सा थूक गांड में लगाया. और फिर धक्का मारा.. जिससे लुंड अंदर तक घुस गया बूत भाभी की आँखों में आंसू आ गए ..तो मैंने लंड तुरंत ही बहार निकल लिया.. और दोबारा से लंड चूत में डाल दिया

भाभी फिर से मस्ती में आ चुकी थी.. तो मैंने इस बार भाभी को अपनी गॉड में उठाया और लुंड को चूत में टिका क्र बैठ गया जिससे उनके बूब्स मेरे सामने आ गए.. और मैंने नीचे से ढ़ाके लगाने चालू कर दिए और साथ ही साथ दोनों बूब्स के बीच अपने मुँह को ग़ुस्साआ कर चाटने लगा ..और निप्पल चूसने लगा.. अब मेरा पानी बी छूटने वाला था .. तो मैंने भाभी से इशारे में ही पुछा की कहाँ छोड़ना है लंड की मलाई..तो भाभी ने इशारे में सर हिलाया की ..चूत के अंदर ही निकाल दो.. और करीब १० मिनट और चोदने के बाद मेरा पानी भी निकल गया

अब सुबह के ४ बज चुके थे और मैं उठ कर जाने लगा.तो भाभी ने मुझे गाल पर एक जॉर्डन किश दी…और कुछ दिन बाद वो अपने दूसरे नए घर में मुंबई शिफ्ट हो गए .. सो दोस्तों आपको मेरी यह कहानी कैसी लगी मुझे मेल करके बताइये मेरा ईमेल है – vaibc181@gmail.com.

अगर किसी फीमेल को डेटिंग में या सीक्रेट रिलेशन में इंट्रेस्ट है तो मुझे मेल करे या अपनी ईमेल कमेंट बॉक्स में कमेंट करे..मैं उसे मेल में रिप्लाई करूँगा.

Thankyou..Please Drop your comment about this story..

This entry was posted in HINDI SEX STORIES. Bookmark the permalink.